पटना

पटना में तेजी से फैल रहा है डेंगू, इस बार बांकीपुर अंचल केंद्र

पटना: शहर में इस बार मच्छर जनित बीमारियों का प्रकोप तेजी से फैल रहा है। पिछले 15 दिनों में शहर के अलग-अलग हिस्से के कुल 70 डेंगू मरीज पीएमसीएच के डेंगू वार्ड में भर्ती कराए गए। इनमें सबसे अधिक 19 पीड़ित निगम के बांकीपुर अंचल के निवासी हैं। बांकीपुर अंचल के महेन्द्रू के 10, आलमगंज के 4, सुल्तानगंज के 2 और कदमकुआ के तीन मरीज डेंगू के मिले हैं। पिछले छह वर्षों से डेंगू का केंद्र कंकड़बाग का इलाका रहा था। यहां के ट्रांसपोर्टनगर और अशोकनगर जैसे इलाके से 165 से अधिक डेंगू के मरीज मिले थे। इस बार भी कंकड़बाग डेंगू का दूसरा सर्वाधिक प्रसार वाला इलाका बना हुआ है। यहां अबतक आठ मरीज पाए गए हैं। जिनमें अशोकनगर के तीन और बाकी पांच कंकड़बाग के अलग-अलग कॉलोनियों के हैं। पटना सिटी अंचल के गायघाट के 4 जबकि एनसीसी अंचल में पांच डेंगू मरीज पाए गए हैं। बांकीपुर अंचल के कदमकुआं में दो चिकनगुनिया के भी मरीज पीएमसीएच में भर्ती हो चुके हैं। संकरी गलियों में नहीं हो पा रही फॉगिंग बांकीपुर और कंकड़बाग का बड़ा इलाका पिछले कई दिनों तक लगतार जलजमाव से प्रभावित रहा था। कई मोहल्ले काफी संकरी और घनी आबादी वाले हैं। पटना नगर निगम के पास छोटी और संकरी गलियों में फॉगिंग कराने के कोई साधन नहीं हैं। निगम के पास अभी 10 बड़ी फॉगिंग मशीनें हैं। इनसे बड़ी और चौड़ी सड़कों पर तो आसानी से फॉगिंग हो जाती है, लेकिन संकरी गलियों में इनका पहुंचना मुश्किल होता। बच्चों में बढ़ी मलेरिया बीमारी इस बार डेंगू, चिकनगुनिया के बाद मलेरिया बीमारी का प्रसार भी तेजी से हो रहा है। खासकर बच्चों में। कंकड़बाग के एक निजी अस्पताल के शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ. सुनील कुमार ने बताया कि उनके यहां प्रतिदिन कम से कम एक या दो बच्चे मलेरिया से पीड़ित होकर इलाज के लिए पहुंच रहे हैं। पिछले साल ऐसी स्थिति नहीं थी। 41 छोटी मशीनों की होगी रिपेयरिंग नगर आयुक्त अभिषेक सिंह ने कहा कि निगम के पास कई छोटी फॉगिंग मशीनें उपलब्ध हैं। इनमें से 41 मशीनों की रिपेयरिंग करने की बात दिल्ली की एक कंपनी से हुई है। जल्द ही रिपेयरिंग का टेंडर कर मशीनों को दुरुस्त करा लिया जाएगा।

About the author

Related Posts

Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.